*विद्युत मंडल पर रंगदारी से बिल वसूलने का आरोप लगाते हुए एस डी एम को सौपा ज्ञापन ।* - Aapki Awaaz

Breaking

आपकी आवाज़ वेब न्यूज़ पोर्टल व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 94251590730 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

*विद्युत मंडल पर रंगदारी से बिल वसूलने का आरोप लगाते हुए एस डी एम को सौपा ज्ञापन ।*

*विद्युत मंडल पर रंगदारी से बिल वसूलने का आरोप लगाते हुए एस डी एम को सौपा ज्ञापन ।*



नागदा - औद्योगिक शहर नागदा के मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल की लापरवाही से बिजली उपभोक्ताओं के ज्यादा राशि के आये बिलों की जांच एवं दोषियों पर कार्यवाही करने की मांग को लेकर मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य बसंत मालपानी ने गुरुवार को अनुविभागीय अधिकारी पुरषोत्तम कुमार को ज्ञापन सौपा।


ज्ञापन में कहा गया की मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल नागदा द्वारा लाॅकडाउन के चलते पिछले दो-तीन माह से  उपभोक्ताओं को एवरेज बिल दिये गये थे। इस माह बगैर मीटर रीडिंग लिये एक्चुअल बिल उपभोक्ताओं को पहुंचाए गए है। जो वास्तविकता से परे होकर बहुत ही ज्यादा है। इसके लिये मीटर रीडिंग लेने वाले कर्मचारी पुर्ण रूप से दोषी है कारण उन्होंने अपने कार्य में लापरवाही करते हुए उपभोक्ताओं के मीटर वास्तविक रीडिंग नहीं ली वहीं बिलो पर भी रीडिंग की इमेज नहीं दिखाई।श्री मालपानी ने बताया की उन्होंने 22 जून को मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल नागदा के मुख्य अभियंता केतन रायपुरिया जी से मुलाकात कर लगभग 30 बिलो की प्रतियां देकर उनकी जांच करने का निवेदन किया था लेकिन मौके पर फौरी रीडिंग करते हुए श्री रायपुरिया ने कहा कि मीटर रीडिंग करने वाले मेरे चैकीदार है उनके रीडिंग लेने के पश्चात् ही बिल बनाये जाते है मैं उनसे संतुष्ट हुँ साथ ही आपके द्वारा दिये गये बिल 99 प्रतिशत सही है। फिर भी मैं जांच करवा लेता हु।श्री मालपानी ने मुख्य अभियंता पर आरोप लगाते हुए कहा वे अपनी जवाबदारी एवं कर्मचारियों की लापरवाही से मुँह मोड़ रहे है। क्योंकि जो बिल हमारे द्वारा दिये गये थे वे लोग काफी गरीब है साथ ही उनका घर भी बहुत छोटा है। उन लोगो के एक माह के हजारो रूपये के बिल आना कहीं न कहीं विद्युत मण्डल की चुक को दर्शाता है।
एस डी एम से को बताया गया की लाॅकडाउन के चलते लोगों के रोजगार के साधन छिन गये थे। कईयों के पास खाने का संकट है। ऐसे में विद्युत मण्डल की लापरवाही से हजारों रूपये बिल आने से वे मानसिक रूप से काफी परेशान है। ऐसे में अगर वे कोई गलत कदम उठा लेंगे तो उसके लिये पुर्ण रूप से म.प्र. विद्युत मण्डल दोषी रहेगा। साथ ही मनमाने बिल देना और उन पर जांच नहीं करना कहीं न कहीं विद्युत मण्डल की रंगदारी से पैसे वसुल करने की नियत दर्शाती है।
श्री  मालपानी ने ज्ञापन में ये भी मांग की है की नागदा के समस्त बिजली उपभोक्ताओं की बिल राशि जमा करने की तिथि आगे बढ़ाते हुए पुनः मीटर रीडिंग लेकर बिल देने का आदेश विद्युत मण्डल नागदा को प्रदान करें।