हाईरिस्क व्यक्तियों का सप्ताह में कम से कम दो बार हो स्वास्थ्य परीक्षण कलेक्टर श्री यादव ने स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक में दिये निर्देश - Aapki Awaaz

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, June 23, 2020

हाईरिस्क व्यक्तियों का सप्ताह में कम से कम दो बार हो स्वास्थ्य परीक्षण कलेक्टर श्री यादव ने स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक में दिये निर्देश

हाईरिस्क व्यक्तियों का सप्ताह में कम से कम दो बार हो स्वास्थ्य परीक्षण
कलेक्टर श्री यादव ने स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक में दिये निर्देश

जबलपुर 22 जून 2020
कलेक्टर भरत यादव ने कोरोना संक्रमण के लिहाज से हाईरिस्क के रूप में चिन्हित व्यक्तियों का सप्ताह में कम से कम दो बार स्वास्थ्य परीक्षण करने के निर्देश दिये हैं। श्री यादव आज सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में संपन्न हुई इस बैठक में जिला पंचायत के सीईओ प्रियंक मिश्रा, अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित भी मौजूद थे।
कलेक्टर श्री यादव ने आधारताल निवासी महिला की मृत्यु का उल्लेख करते हुए बैठक में कहा कि हाईरिस्क के रूप में चिन्हित हर व्यक्ति का नियमित तौर पर स्वास्थ परीक्षण किया जाना चाहिए, जो इस मामले में नजर नहीं आया। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में दो चिकित्सकों को नोटिस दिये गए हैं साथ ही संबंधित क्षेत्र के सर्वे दल में शामिल सदस्यों पर भी कार्यवाही की जायेगी। श्री यादव ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अमले को शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में हाईरिस्क के रूप में चिन्हित प्रत्येक व्यक्ति के घर जाकर और सार्थक एप के माध्यम से उनके स्वास्थ पर निगरानी रखना होगी।
कलेक्टर ने बैठक में कहा कि निर्देशों एवं प्रोटोकॉल की जानकारी दिये जाने के बावजूद निजी अस्पताल भी उनके यहां आये इस तरह के मामलों में समय पर स्वास्थ्य विभाग को सूचित नहीं कर रहे हैं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को समय पर कोरोना संदिग्ध मरीजों की सूचना नहीं देने वाले निजी अस्पतालों के विरूद्ध भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।
कलेक्टर ने कहा कि तय प्रोटोकॉल के मुताबिक निजी अस्पतालों को फीवर क्लीनिक संचालित किये जाने के साथ-साथ सभी मरीजों का ईलाज करना होगा। साथ ही कोरोना के संदिग्ध मरीजों की सेम्पलिंग भी करानी होगी। पॉजिटिव पाये जाने पर मेडिकल कॉलेज अथवा विक्टोरिया चिकित्सालय के विशेषज्ञ चिकित्सकों से चर्चा और उनकी सलाह लेकर ही निजी अस्पतालों को ऐसे मरीजों को मेडिकल अथवा विक्टोरिया शिफ्ट किया जाना चाहिए।
कलेक्टर श्री यादव ने बैठक में क्वारंटीन एवं होम आइसोलेशन के नियमों का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों पर कार्यवाही करने और जुर्माना लगाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्ट के लिए तय प्रोटोकॉल के मुताबिक सेम्पल लिये जाएं। साथ ही शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार स्वास्थ्य सर्वे हो तथा दस दिन के बाद उन्हीं क्षेत्रों में दोबारा सर्वे किया जाये।
बैठक में श्री यादव ने कहा कि प्रत्येक कोरोना संदिग्ध का समय पर सेम्पल लिया जाये और संक्रमित मिलने पर समय पर उपचार भी शुरू हो ताकि कोरोना के कारण किसी की भी मृत्यु न हो सके। इस बारे में जरूरी सभी सावधानी और सतर्कता बरतनी होगी।
क्रमां

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here