हरियाली अमावस के दिन नियमों की उड़ाई धज्जियां किया नर्मदा स्नान - Aapki Awaaz

Breaking

आपकी आवाज़ वेब न्यूज़ पोर्टल व्यूअर से अनुरोध करता है कि आप अपने सुझाव हम तक जरूर भेजें.. ताकि आने वाले समय मे हम आपकी मदद से और भी बेहतर कार्य कर सकें... साथ ही यदि आपको लेख अच्छा लगे तो इसे ओरों तक भी पहुंचाए.. प्रकाशन हेतु ख़बरें, विज्ञप्ति मोबाइल- 94251590730 पर व्हाट्सएप्प करें.....प्रदेश, संभाग, जिला, तहसील और ग्राम स्तर पर संवाददाता की आवश्यकता है

हरियाली अमावस के दिन नियमों की उड़ाई धज्जियां किया नर्मदा स्नान

Vinodchouksey,,

हरियाली अमावस के दिन नियमों की उड़ाई धज्जियां किया नर्मदा स्नान


नरसिंहपुर जिला रायसेन जिला के नागरिकों द्वाराप्रशासन के नियमों की धज्जियां
आस्था की आड़ में सारे नियम भूले,,,


पूरे भारतवर्ष में जहां कोरोना वायरस महामारी में भारत सरकार प्रदेश सरकार महामारी रोकने के लिए लड़ रहे हैं प्रशासन के अधिकारी पुलिस व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग वरिष्ठ अधिकारी सरकार के नेता नए नए बदलाव कर सुरक्षा व्यवस्था के लिए प्रयास कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर हरियाली अमावस के दिन चेक पोस्ट झि कोली बोरास घाट पर मां नर्मदा में आस्था की डुबकी के नाम पर नरसिंहपुर जिला एवं रायसेन जिला के नागरिकों ने प्रशासन के नियमों की धज्जियां उड़ा दी सुबह-सुबह हजारों की संख्या में आस्था की डुबकी लगाते हुए सारे नियम कानून तोड़े जहां जिला के कलेक्टर श्री वेद प्रकाश जी द्वारा सीधा पुलिस प्रशासन को निर्देश करते हुए कहा गया है कि
 नर्मदा घाटों पर बाजारों में जो भी प्रशासन के नियम तोड़ेगा उसके ऊपर सख्त कार्रवाई होगी लेकिन हरियाली अमावस के दिन सारे नियम टूट गए चेक पोस्ट पर ड्यूटी पर तैनात शिक्षकों द्वारा बताया गया कि हम को कोई प्रशासन की कोई व्यवस्था यहां नहीं है बड़ी बात सुबह यह भी देखी गई की 7:20 तक दोनों जिला के नर्मदा तटों पर कोई भी पुलिस व्यवस्था नहीं थी थाना प्रभारी श्री आशीष कुमार को जानकारी दी गई कि उन्होंने कहा कि पुलिस बल अभी अभी निकला है समाजसेवियों द्वारा बताया पुलिस प्रशासन से मांग की है कि सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एवं मास्क लगाने के लिए बड़ी पहल प्रशासन को करनी होगी किसी भी नागरिकों को डर नाम की कोई चीज नहीं थी जिससे सीधा-सीधा यह लग रहा है कि कोरोनावायरस महामारी मैं सीधा आमंत्रण दिया जा रहा है प्रशासन इस ओर अभी-अभी ध्यान दें क्योंकि हजारों की संख्या में मां नर्मदा तटों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है जिससे प्रशासन के नियमों की धज्जियां उड़ रही है अभी भी वक्त है आज नहीं समले तो फिर नहीं संभल पाएंगे,,


**आपकी आवाज*****संपादक*****7999057770**